नॉर्थ ईस्ट के बाद एटीके को हराकर 8वें स्थान पर पहुंचना चाहेगी दिल्ली

नई दिल्ली।

दिल्ली डायनामोज बेशक हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन के प्लेआफ की दौड़ से बाहर हो गई है लेकिन उसकी सम्मान की लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है। इसी प्रयास के तहत दिल्ली की टीम अपने घर में शनिवार को दो बार के चैम्पियन एटीके का सामना करेगी और उसे हराकर अंक तालिका में आठवां स्थान हासिल करना चाहेगी।

एफसी गोवा के साथ हुए अंतिम मुकाबले से पहले तक दिल्ली की टीम तालिका में सबसे नीचे थी लेकिन गोवा को ड्रा पर रोकने के साथ वह अब तालिका में नौवें स्थान पर है और अब उसकी नजर आठवें स्थान पर है, जहां अभी एटीके का कब्जा है।

एटीके भी प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गया है, लिहाजा उसका प्रयास भी सम्मानजनक स्थान के साथ लीग की समाप्ति करना है। दिल्ली के कोच मिग्वेल एंजेल पुर्तगाल ने मैच पूर्वसंध्या पर कहा, ‘गोवा के खिलाफ हम जीत के लिए खेले थे। जैसा कि मैंने पहले भी कहा था कि हम सम्मानजनक स्थिति में रहते हुए चौथे सीजन का समापन करना चाहते हैं। यह हम अपने तथा अपने अध्यक्ष के लिए करना चाहते हैं। ऐसे में हमें हर हाल में बाकी बचे मैचों से तीन अंक चाहिए।’

स्पेन निवासी पुर्तगाल ने अपनी टीम के साथ लीग के शुरुआती और मध्य चरण में काफी संघर्ष किया है लेकिन अब लगता है कि उनकी टीम का आत्मविश्वास लौट आया है। बीते तीन मैचों से दिल्ली की टीम हारी नहीं है। उसने चेन्नयन एफसी को बराबरी पर रोका और फिर नार्थईस्ट युनाइटेड को हराया और इसके बाद अपने अंतिम मैच में गोवा को बराबरी पर रोकते हुए उसे मुश्किल में डाला।

दिल्ली ने अगर शनिवार को एटीके को हरा दिया तो उसके 16 मैचों से 15 अंक हो जाएंगे और वह 15 मैचों से 13 अंक जुटाने वाले एटीके से आगे निकल जाएगा। दो बार की इस चैम्पियन के लिए यह सीजन काफी असहज रहा है।

बीते तीन साल में दो बार खिताब जीतने वाली यह टीम इस साल सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाई। एटीके के कोच टेडी शेरिंघम ने लीग के बीच में ही इस्तीफा दे दिया था और इस क्लब ने अपने अंतरिम कोच एश्ले वेस्टवुड की देखरेख में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया।

वेस्टवुड पिछले पांच मैचों से टीम की देखरेख कर रहे हैं लेकिन उनकी टीम को एक भी जीत नहीं मिली है। वेस्टवुड की देखरेख में एटीके ने पांच में से चार मैच गंवाए हैं और इस दौरान उसे केरल के खिलाफ बराबरी के मैच से एक अंक प्राप्त हुआ है। वेस्टवुड ने कहा, ‘हमें गोल खाने से बचना होगा। हमारा आक्रमण अच्छा है। अब हमारे पास खोने के लिए कुछ नहीं है, लिहाजा हम अधिक से अधिक मैच जीतने का प्रयास करेंगे। ऐसे में हम अगले मैच में आक्रामक तरीके से हमला करेंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *